पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

आईएमए में प्रशिक्षण ले रहे 80 अफगानी सैन्य कैडेट का भविष्य अधर में, आखिर क्या है वजह

WebdeskAug 18, 2021, 11:26 AM IST

आईएमए में प्रशिक्षण ले रहे 80 अफगानी सैन्य कैडेट का भविष्य अधर में, आखिर क्या है वजह


अफगानिस्तान में चल रहे संघर्ष की खबरों के बीच देहरादून की भारतीय सैन्य अकादमी में प्रशिक्षण ले रहे 80 अफगानी सैन्य कैडेट अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। ये कैडेट यहां से प्रशिक्षण लेकर अफगान नेशनल आर्मी में अधिकारी बनने वाले थे। अब इन्हें अपने भविष्य को लेकर चिंता है कि ये तालिबान के सैनिक बनेंगे या अफगान सेना के ?


दिनेश मानसेरा

अफगानिस्तान में चल रहे संघर्ष की खबरों के बीच देहरादून की भारतीय सैन्य अकादमी में प्रशिक्षण ले रहे 80 अफगानी सैन्य कैडेट अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। ये कैडेट यहां से प्रशिक्षण लेकर अफगान नेशनल आर्मी में अधिकारी बनने वाले थे। अब इन्हें अपने भविष्य को लेकर चिंता है कि ये तालिबान के सैनिक बनेंगे या अफगान सेना के ? क्योंकि जब वे भारत आये तो अफगानिस्तान आर्मी द्वारा चुनकर भेजे गए थे पर अब तालिबान का कब्जा है।

देहरादून की आईएमए में भारत और अफगान सरकार के बीच 2011 में हुए रक्षा समझौते के तहत 40 अफगानी कैडेट हर साल अफगान नेशनल आर्मी के प्री कमीशन का प्रशिक्षण लेने के लिए आते हैं। इस समय दो वर्ष के लिए 80 कैडेट यहां ट्रेनिंग पर हैं। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि अफगानी सेना द्वारा तालिबान के आगे हथियार डाल देने के बाद इन कैडेट के भविष्य का क्या होगा ? भारतीय सैन्य अकादमी देहरादून की प्रवक्ता हिमानी पंत का कहना है कि अफगानिस्तान से आए कैडेट की ट्रेनिंग का काम पूरा कराया जाएगा। अभी तक किसी भी कैडेट ने इस बारे में कोई पत्र, संस्थान को नहीं दिया है।

गौरतलब है कि भारतीय सैन्य अकादमी में कई पड़ोसी देशों—नेपाल, भूटान के कैडेट भी ट्रेनिग लेते रहे हैं। अफगानिस्तान के 40 कैडेट भी ह रसाल यहां से पास आउट होते हैं।

Comments

Also read: श्रीनगर में 4 आतंकियों समेत 15 OGW मौजूद, सर्च ऑपरेशन जारी ..

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें
#Panchjanya #Kejriwal #DelhiHajhouse

Also read: संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाकिस्तान सहित OIC को लगाई लताड़ ..

पाकिस्तानी एजेंटों को गोपनीय सूचनाएं दे रहे थे DRDO के संविदा कर्मचारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार
IED टिफिन बम मामले में पकड़े गए चार आतंकी, पंजाब हाई अलर्ट पर

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज

दिनेश मानसेरा उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। राज्य में यूं मुस्लिम आबादी का बढ़ना, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने जैसा हो जाएगा। उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। बता दें कि उधमसिंह नगर राज्य का मैदानी जिला है। भगौलिक ...

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज