पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

घर-घर जाकर जबरदस्ती लड़कियों को उठा रहे तालिबानी हत्यारे, बर्बरता चरम पर

WebdeskAug 13, 2021, 02:36 PM IST

घर-घर जाकर जबरदस्ती लड़कियों को उठा रहे तालिबानी हत्यारे, बर्बरता चरम पर

कोई छुपी बात नहीं है महिलाओं के प्रति तालिबान की बर्बरता   (फाइल चित्र)


तालिबानी घर-घर जाकर लड़कियों को इसलिए उठा रहे हैं ताकि वे उनके बर्बर लड़ाकों की 'सेक्स गुलाम' बनकर रहें। तालिबानी महिलाओं को अगवा करके उनसे जबरन निकाह रचा रहे हैं।



एक तरफ तो तालिबानी जिहाद अफगानिस्तान को निगलते जा रहे हैं, तो दूसरी ओर अपने कब्जे में आए गांवों शहरों में मध्ययुगीन सोच और बर्बरता को लौटा रहे हैं। तालिबान के द्वारा पिछले दिनों कब्जाए कुछ इलाकों से आई रिपोर्ट चिंता और आक्रोश पैदा करने वाला है। इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अफगानिस्तान में उनके कब्जाए इलाकों के नेताओं को कुछ दिन पहले वहां की 12 साल की लड़कियों से लेकर 45 साल तक की महिलाओं की सूची देने का दबाव डाला गया था। इधर तालिबानी जिहादी इलाकों पर कब्जे करना जारी रखे हैं और इधर महिलाओं और लड़कियों में खौफ बढ़ता जा रहा है। 12 साल से ऊपर की बच्चियों को उनके घरों में घुसकर उनके माता—पिता के सामने जबरन ले जाया जा रहा है। दैनिक द सन की मानें तो तालिबानी घर-घर जाकर लड़कियों को इसलिए उठा रहे हैं ताकि वे उनके बर्बर लड़ाकों की 'सेक्स गुलाम' बनकर रहें।

अफगानिस्तान में अपने कब्जाए इलाकों में तालिबानी जिहादी महिलाओं को अगवा करके उनसे जबरन निकाह रचा रहे हैं। यह इलाकों में शरिया लागू होने के संकेत देता है और वहां बन रही डरावनी परिस्थिति की झलक देता है। इतना ही नहीं, महिलाएं बिना पुरुष को साथ लिए घरों से नहीं निकल सकतीं। उनका हिजाब पहने रहना जरूरी कर दिया गया है।

सूत्रों के हवाले से खबर है कि अफगानिस्तान में अपने कब्जाए इलाकों में तालिबानी जिहादी महिलाओं को अगवा करके उनसे जबरन निकाह रचा रहे हैं। ब्लूमबर्ग की खबर है कि ऐसा होना कब्जाए इलाकों में शरिया लागू होने के संकेत देता है और वहां बन रही डरावनी परिस्थिति की झलक देता है। इतना ही नहीं, महिलाएं बिना पुरुष को साथ लिए घरों से नहीं निकल सकतीं। उनका हिजाब पहने रहना जरूरी कर दिया गया है।

कब्जाए इलाकों में ज्यादातर स्कूलों और कारोबारों को तहस-नहस कर दिया गया है। फरमान है कि जिन स्कूलों में पढ़ाने वाली महिला हों उन्हीं स्कूलों में लड़कियों को भेजा जाए। तालिबानी जिहादियों ने आगाह किया है कि जो भी इन कायदों को नहीं मानेगा उसका बुरा हाल किया जाएगा। जो महिलाएं वहां से भाग निकलने में काबिल हैं वे उन इलाकों से जा रही हैं। लड़कियों के पिता डरे-सहमे हैं कि न जाने कब कोई तालिबानी आकर उनकी बेटी को उठा ले जाए।
 

Follow Us on Telegram
 

Comments
user profile image
Vivek Ranjan Sonbhadra
on Aug 15 2021 15:01:58

अफगानिस्तान की जनता ही अपना रास्ता बनाएगी। इसमें समय लगेगा। या फिर पूरी दुनिया कुछ रास्ता दिखाएगी, पर चलना तो अफगानिस्तान को ही है। अफगान के पड़ोसी, जैसे पाकिस्तान, चीन, ईरान, उज़्बेकिस्तान, आदि तो चुप हैं या फिर तालिबान का समर्थन कर रहे हैं।

Also read: बिजनौर से जुड़े हैं कश्मीरी आतंकी के तार? शमीम और परवेज से पूछताछ कर रहीं सुरक्षा एजें ..

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा।

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा। सुनिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मा. जे. नंदकुमार को कल सुबह 10 बजे और सायं 5 बजे , फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब समेत अन्य सोशल मीडिया मंच पर।

Also read: प्रधानमंत्री मोदी के दौरे से पहले सलाहकार भास्कर खुल्बे पहुंचे बद्री-केदारधाम,लिया पु ..

शोपियां: सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया, पिस्टल सहित ग्रेनेड बरामद
साड़ी पर औपनिवेशिक शरारत

हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का योगी आदित्यनाथ ने किया अनावरण, कहा- एकजुट रहो, जाति-बिरादरी में न बंटो

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क योगी आदित्यनाथ ने ग्रेटर नोएडा में हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की विशाल प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मिहिर भोज ऐसे हिन्दू सम्राट थे, जिनसे दुश्मन कांपते थे।    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सम्राट मिहिर भोज ऐसे हिन्दू सम्राट थे, जिनसे दुश्मन कांपते थे। ऐसे महापुरुष को नमन है। उन्होंने कहा जो कौम अपने भूगोल को विस्मृत कर देती है, वह अपने इतिहास की रक्षा भी नहीं कर पाती।      दरअसल, योगी आदित्यनाथ ग्रेटर ...

हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का योगी आदित्यनाथ ने किया अनावरण, कहा- एकजुट रहो, जाति-बिरादरी में न बंटो