पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

खुद प्रधानमंत्री मोदी करते हैं बद्री—केदारनाथ धाम परियोजनाओं की निगरानी

WebdeskAug 17, 2021, 12:01 PM IST

खुद प्रधानमंत्री मोदी करते हैं बद्री—केदारनाथ धाम परियोजनाओं की निगरानी

 कुछ इस तरह दिखेगा बद्रीनाथ धाम
 


हिन्दुओं के पवित्र स्थलों में से एक बद्रीनाथ धाम को फिर से सजाया और संवारा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि बद्रीनाथ धाम मंदिर परिसर को नए सिरे से खूबसूरत बनाया जाए और राज्य की भाजपा सरकार ने एक मास्टर प्लान बना कर उस पर कार्य भी शुरू कर दिया है।


दिनेश मानसेरा

हिन्दुओं के पवित्र स्थलों में से एक बद्रीनाथ धाम को फिर से सजाया और संवारा जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि बद्रीनाथ धाम मंदिर परिसर को नए सिरे से खूबसूरत बनाया जाए और राज्य की भाजपा सरकार ने एक मास्टर प्लान बना कर उस पर कार्य भी शुरू कर दिया है।

बता दें कि बद्रीनाथ धाम सबसे प्रमुख तीर्थ स्थल है। पिछले कई दशकों से बद्रीनाथ धाम परिसर के आसपास अतिक्रमण, पुरानी दुकाने, धर्मशालाएं अव्यवस्थित तरीके से बनी हुई हैं। हर साल दस लाख से ज्यादा श्रद्धालु भगवान बद्रीनाथ के दर्शनों के लिए आते है। संकरे मार्गों से तीर्थयात्री मंदिर के मुख्यद्वार तक पहुंचते है। अब सरकार ने इसमें सुधार करने का फैसला लिया है। प्रधानमंत्री मोदी की व्यक्तिगत रुचि को देखते हुए एक मास्टर प्लान प्रधानमंत्री मोदी से मंजूर करवाया गया है।

पहले फेज में सौ करोड़ के प्रोजेक्ट को मंजूरी राज्य सरकार ने दे दी है, जिसके तहत बद्रीनाथ मंदिर परिसर के आस—पास बनी 8 सरकारी इमारतों को ध्वस्त किया जा रहा है। इसके बाद स्थानीय धर्मशालाओं और निजी संपत्तियों को गिराकर मंदिर परिसर को चौड़ा व खुला रूप देकर उसका सौंदर्यीकरण किया जाएगा। जो इमारतें हटाई अथवा ध्वस्त की जाएंगी, उन्हें नई जगह बनाकर सरकार देगी। पूरे बद्रीनाथ शहर को एक स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जा रहा है।

इसी तरह केदारनाथ धाम में दो फेज का काम समाप्त हो गया है। केदारनाथ परिसर में विशाल प्रांगण बन गया है। धर्मशालाएं, दुकानें केदारपुरी में शिफ्ट हो गयी हैं। यहां अब तीसरे फेज का काम शुरू हो गया है।

प्रधानमंत्री मोदी बद्री—केदारनाथ धाम को आल वेदर रोड से जोड़कर भविष्य में तीर्थयात्रियों के लिए यात्रा सुगम करने का काम तेजी से पूरा करवाने के लिए खुद इस परियोजना की देखरेख कर रहे हैं। वह हर तीन माह में ड्रोन तकनीक से हो रहे विकास कार्यों की समीक्षा करते हैं और साल में एक बार खुद आकर कामकाज देखते हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने बद्रीनाथ के लिए रेल परियोजना पर भी काम तेज करवाया है। फिलहाल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बद्रीनाथ धाम की योजनाओं को कैबिनेट से मंजूरी देकर इस कार्य में और तेजी लाने की बात कही है।

Comments

Also read: ईसाई न बनने पर छोटे भाई ने बड़े भाई को घर से किया बाहर ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: झारखंड से योजनाओं का शुभारंभ करने वाले कर्मयोगी ..

बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं है  मायावती--- सुरेश खन्ना
टिकट चाहिए तो भरिये फार्म, दीजिये 11 हजार का शगुन, कांग्रेस हाई कमान का गजब आदेश

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं ...

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां