पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

पलायन नहीं अब पराक्रम से रूकेगा कन्वर्जन

WebdeskAug 09, 2021, 11:54 AM IST

पलायन नहीं अब पराक्रम से रूकेगा कन्वर्जन


विश्व हिंदू परिषद ने मेरठ जनपद में  एक कार्यशाला का आयोजन किया. इस कार्यशाला में वीएचपी ने कन्वर्जन और पलायन रोकने को लेकर विमर्श किया  इस कार्यशाला में  संकल्प लिया गया कि अब पलायन नहीं पराक्रम होगा.


वीएचपी के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री डॉक्टर सुरेंद्र जैन ने कहा कि "विश्व हिंदू परिषद मेरठ प्रांत ने तय किया है कि अब किसी  भी हिंदू परिवार की प्रताड़ना , बर्दाश्त नहीं की जायेगी. प्रदेश में संवेदनशील स्थानों की पहचान की गई है. ऐसे करीब 70 संवेदनशील स्थान हैं जहां  हिंदुओं को सक्षम होने की आवश्यकता है. इन स्थानों पर हिन्दुओं को  आत्मरक्षा हेतु पूर्ण रूप से सक्षम बनाया जाएगा.  हिंदू समाज को एकजुट होना होगा.  उन सभी हिंदू परिवारों के साथ शेष हिन्दुओं को कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होना होगा.

सुरेन्द्र जैन ने कहा कि जन जागरण के माध्यम से  हिन्दुओं में  सामर्थ्य का  भाव जागृत किया जाएगा. कन्वर्जन एवं  लव जिहाद का जाल पूरे भारत में फैला हुआ है. कन्वर्जन एवं लव जिहाद सभ्य समाज के लिए अत्यंत घातक है. कन्वर्जन कराने वाले राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में भी शामिल पाए गए हैं.  दुर्भाग्य है कि भारत की सेकुलर ताकतें कांग्रेस के नेतृत्व में कन्वर्जन एवं आतंकवाद में सहभागी बनती हैं. यही वजह है कि  छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने कन्वर्जन विरोधी बिल पारित नहीं होने दिया.

उन्होंने  कहा कि  केंद्र सरकार से हमारा आग्रह  है कि  लव जिहाद और कन्वर्जन को रोकने के लिए केंद्रीय कानून बनाए.    देवबंद, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय और कई मदरसों में  हिंदू विरोधी एवं राष्ट्र विरोधी गतिविधियां चलती हैं. उन सभी गतिविधियों को तत्काल बंद करें.
Follow Us on Telegram

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 09 2021 16:45:07

bahut badhiya

Also read: श्रीनगर में 4 आतंकियों समेत 15 OGW मौजूद, सर्च ऑपरेशन जारी ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाकिस्तान सहित OIC को लगाई लताड़ ..

पाकिस्तानी एजेंटों को गोपनीय सूचनाएं दे रहे थे DRDO के संविदा कर्मचारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार
IED टिफिन बम मामले में पकड़े गए चार आतंकी, पंजाब हाई अलर्ट पर

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज

दिनेश मानसेरा उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। राज्य में यूं मुस्लिम आबादी का बढ़ना, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने जैसा हो जाएगा। उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। बता दें कि उधमसिंह नगर राज्य का मैदानी जिला है। भगौलिक ...

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज