भारत

चीनी सेना ने एलएसी पर उत्तराखंड में बाड़ाहोती के सामने बढ़ाई गतिविधि

WebdeskJul 21, 2021, 06:30 PM IST

चीनी सेना ने एलएसी पर उत्तराखंड में बाड़ाहोती के सामने बढ़ाई गतिविधि

भारतीय वायुसेना का एएन-32 (सांकेतिक चित्र)


चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। वह लगातार भारतीय सीमा के पास अवैध गतिविधियां जारी रखे हुए है। पिछले साल से लद्दाख में भारत के साथ सैन्य गतिरोध में लगी चीनी सेना ने अब उत्तराखंड के बाड़ाहोती इलाके में वास्‍तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं। हाल ही में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की एक प्‍लाटून को एलएसी के पास सक्रिय देखा गया।

सूत्रों ने बताया कि हाल ही में पीएलए का एक प्‍लाटून (लगभग 35 सैनिक) को उत्तराखंड के बाड़ाहोती इलाके के आसपास काम करते हुए देखा गया था। चीनी सैनिकों ने आसपास के इलाके का सर्वेक्षण किया था। चीनियों को इस क्षेत्र के आसपास कुछ गतिविधि करते देखा गया है।" चीनी सैनिकों के वहां रहने के दौरान इलाके में लगातार नजर रखी जा रही थी।"

सूत्रों ने कहा कि भारत की ओर से भी इलाके में पर्याप्‍त इंतजाम किए गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों को लगता है कि इस इलाके में चीनी किसी तरह की गतिविधि करने की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन समूचे मध्‍य क्षेत्र में भारतीय ऑपरेशन की तैयारी अधिक है। सूत्रों के अनुसार, हाल के दिनों में सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और मध्‍य कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल वाई. डिमरी ने भी चीन के साथ लगते मध्‍य क्षेत्र की सीमा का दौरा किया है और वहां के हालात और ऑपरेशन तैयारियों की समीक्षा की है।

सूत्रों ने कहा कि बाड़ाहोती इलाके के पास एक हवाई अड्डे पर भी चीनियों की गतिविधियां तेज हो गई हैं। वहां उन्‍होंने बड़ी संख्‍या में ड्रोन भी तैनात किए हैं। भारत ने मध्‍य क्षेत्र में अतिरिक्‍त सैनिकों की तैनाती कर दी है और वहां कई रियर फॉर्मेशन भी आगे बढ़े हैं। इसके अलावा, भारतीय वायुसेना ने वहां कुछ हवाई अड्डों को भी सक्रिय कर दिया है, जिसमें चिन्‍यालीसौंड उन्‍नत लैंडिंग ग्राउंड भी शामिल है। वहां एएन-32 विमान लगातार उतर रहे हैं। चिनूक हेवी लिफ्ट हेलीकॉप्‍टर भी उस क्षेत्र में सक्रिय हैं और आवश्‍यकता होने पर अंतर घाटी सैनिकों को भी भेजा जा सकता है।
Follow Us on Telegram

Comments
user profile image
Anonymous
on Jul 21 2021 22:04:44

वामपंथीयों का नियम है शत्रु को हमेशा खोरोचते रहो परेशानी में रखो तो फिर आत्मसमर्पण कर देगा चीन उसी नीति पर चल रहा है लेकिन असल में ये लोग डरपोक है एक बार इन पर जबरदस्त वार करो तो ये बेचारा बनने का नाटक करते है या फिर भाग जाते है।

Also read: टोक्यो ओलंपिक— फिर चमकी भारतीय हॉकी ..

Stan Swamy की कब, कैसे और क्यों हुई मौत....हकीकत जानें| Reason Behind Stan Swamy Death | Latest News

Stan Swamy की कब, कैसे और क्यों हुई मौत....हकीकत जानें| Reason Behind Stan Swamy Death | Latest News Stan Swamy की मौत पर आखिर बवाल क्यों ? कौन थे स्टेन स्वामी और उनकी पर पर मीडिया का एक दल और कांग्रेस, वामपंथी समेत कई विपक्षी दल सरकार को क्यों घेर रहे हैं. उस स्टेन स्वामी की जरा हकीकत भी जान लें. #Panchjanya #StanSwamy #StanDeathCase...

Also read: नई शिक्षा नीति नए भारत की नींव : प्रधानमंत्री ..

विश्व मंच पर
मैकाले- मुक्त शिक्षा व्यवस्था की नींव

गृहमंत्री अमित शाह करेंगे 'यूपी स्‍टेट फॉरेंसिक साइंस इंस्‍टीट्यूट' का शिलान्‍यास

आपराधिक मामलों के जल्द निस्तारण के लिए यूपी स्टेट फॉरेंसिक साइंस इंस्टीट्यूट एक मील का पत्थर साबित होगा.  लखनऊ की तहसील सरोजनीनगर में 50 एकड़ भूमि में उत्तर प्रदेश इंस्टीट्यूट ऑफ फॅारेंसिक साइंसेज का निर्माण कराया जा रहा है. इसका शिलान्यास 1 अगस्त  को गृहमंत्री अमित शाह करेंगे. डीएनए के क्षेत्र में स्थापित किया जाने वाला यह इंस्टीट्यूट, सेंटर ऑफ एक्सीलेंस  होगा. यूपी स्टेट फॉरेंसिक साइंस इंस्टीट्यूट वैज्ञानिक अपराध जांच के क्षेत्र में आधुनिक सुविधाएं और प्रौद्योगिकी सबसे उत्&z ...

गृहमंत्री अमित शाह करेंगे 'यूपी स्‍टेट फॉरेंसिक साइंस इंस्‍टीट्यूट' का शिलान्‍यास