पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

पश्चिम बंगाल: भाजपा का ममता पर आरोप, नामांकन पत्र में छिपाई पांच आपराधिक मामलों की बात

WebdeskSep 15, 2021, 06:10 PM IST

पश्चिम बंगाल: भाजपा का ममता पर आरोप, नामांकन पत्र में छिपाई पांच आपराधिक मामलों की बात


भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबड़ेवाल के मुख्य चुनावी एजेंट सजल घोष ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र देकर शिकायत की है कि ममता बनर्जी ने अपने नामांकन पत्र में पांच आपराधिक मामलों की बात छिपाई है, जो उन पर चल रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री के नामांकन पत्र की जांच की मांग की है।



पश्चिम बंगाल विधानसभा उपचुनाव के बीच भारतीय जनता पार्टी ने भवानीपुर सीट से तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार व राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर बड़ा आरोप लगाया है। भवानीपुर से भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबड़ेवाल के मुख्य चुनावी एजेंट सजल घोष ने राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी को पत्र देकर शिकायत की है कि ममता बनर्जी ने अपने नामांकन पत्र में पांच आपराधिक मामलों की बात छिपाई है, जो उन पर चल रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री के नामांकन पत्र की जांच की मांग की है। पत्र में सजल घोष ने लिखा है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने नामांकन पत्र में उन पांच मामलों का जिक्र नहीं किया जो असम में दर्ज हुए थे।

बता दें कि साल, 2018 में असम में ममता के खिलाफ पांच मामले दर्ज किए गए थे, लेकिन उन्होंने इनका उल्लेख अपने नामांकन में नहीं किया है। उन्होंने चुनाव आयोग से नामांकन पत्र की जांच की अपील की है और सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के अनुसार इस पर कार्रवाई की मांग की है।इस पूरे मामले पर टीएमसी ने आरोपों का खंडन किया है। तृणमूल ने कहा कि ममता बनर्जी को अपने खिलाफ दर्ज मामलों का खुलासा करने की आवश्यकता तब है, जब वास्तव में उनका नाम चार्जशीट में दर्ज हो।

उल्लेखनीय है कि विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम से भाजपा उम्मीदवार सुवेंदु अधिकारी से ममता बनर्जी चुनाव हार गई थीं। अब वह भवानीपुर से उपचुनाव लड़ रही हैं। उनके लिए यह चुनाव जीतना बहुत जरूरी है। क्योंकि अगर वह पांच नवंबर तक निर्वाचित नहीं होती हैं, तो उनकी मुख्यमंत्री की कुर्सी चली जाएगी।

 

Follow Us on Telegram
 

Comments
user profile image
Anonymous
on Sep 17 2021 20:29:53

भाजपा को असली मुद्दा को लेकर आगे बढ़ना चाहिए ये सब भटराउ शिकायत से कुछ फर्क पड़ने वाला है सिर्फ समय नष्ट ये सजल घोष कैसे भाजपा को प्रार्थि को भटकाता है उस पर चुपचाप गौर किजीये भाजपा के लिये आगे काम आयेगा। मुस्लिम पंजाबी वामपंथी वोट तो मिलेगा नहीं बाद बाकी

user profile image
Anonymous
on Sep 16 2021 07:10:35

औरत के लिए य़ह बहुत ही बड़ा कलंक है आपराधिक प्रवृत्ति वालीं पद पर बने रहने का कारण ही नहीं बनता

user profile image
Anonymous
on Sep 15 2021 19:10:44

यह औरत आरोप-प्रत्यारोप से ऊपर है यह औरत ऐसी है कि इसके ऊपर डायरेक्ट एक्शन करो सरप्राइसली इसके साथ जैसे को तैसा वाली कार्रवाई करनी चाहिए वही उचित है

Also read: श्रीनगर में 4 आतंकियों समेत 15 OGW मौजूद, सर्च ऑपरेशन जारी ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने पाकिस्तान सहित OIC को लगाई लताड़ ..

पाकिस्तानी एजेंटों को गोपनीय सूचनाएं दे रहे थे DRDO के संविदा कर्मचारी, पुलिस ने किया गिरफ्तार
IED टिफिन बम मामले में पकड़े गए चार आतंकी, पंजाब हाई अलर्ट पर

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज

दिनेश मानसेरा उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। राज्य में यूं मुस्लिम आबादी का बढ़ना, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने जैसा हो जाएगा। उत्तराखंड स्थित उधमसिंह नगर जिले में हरिद्वार के बाद सबसे तेजी से मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। आंकड़ों के मुताबिक उधमसिंह नगर में करीब 7 लाख मुस्लिम आबादी 2022 तक हो जाएगी। बता दें कि उधमसिंह नगर राज्य का मैदानी जिला है। भगौलिक ...

उत्तराखंड: उधम सिंह नगर में बढ़ती मुस्लिम आबादी, देवभूमि के स्वरूप को खंडित करने के प्रयास तेज