पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

जल निगम भर्ती घोटाले में आजम खान की जमानत याचिका खारिज

WebdeskSep 13, 2021, 03:00 PM IST

जल निगम भर्ती घोटाले में आजम खान की जमानत याचिका खारिज


लखनऊ ब्यूरो
 


जल निगम भर्ती घोटाले में पूर्व नगर विकास मंत्री आज़म खान की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. लखनऊ में सीबीआई न्यायालय के स्पेशल जज ने आज़म खान की जमानत याचिका खारिज कर दी.  

 

वर्ष 2016 में 1300 पदों के लिए  रिक्तियां विज्ञापित हुई थीं तब  इसमें 122 सहायक अभियंता, 853 अवर अभियंता, 353  नैत्यिक सहायक और 32 आशुलिपिक के पद थे.   एस. आई. टी. ने अपनी जांच में पाया कि 4 जनवरी 2017 को चुनाव आचार संहिता लागू थी.  ऐसे में  कोई भी नियुक्ति नहीं की  जानी चाहिए थी  और अगर किन्हीं परिस्थितियों में ऐसा किया जाना आवश्यक  था तो चुनाव आयोग से अनुमति ली जानी चाहिए थी. इन नियुक्तियों की अनुमति न तो वित्त विभाग से ली गई  और न चुनाव आयोग से.  जिस समय नियुक्ति की प्रक्रिया पूर्ण करके चयनित अभ्यर्थियों को ज्वाइन कराया गया. उस दिन 16 जनवरी 2017 को भी चुनाव  आचार संहिता लागू थी.  एस.आई.टी. की जांच में प्रथम दृष्टया अपराध का होना पाया गया. 


आजम खान एवं पूर्व नगर विकास सचिव, एस पी सिंह  समेत कुछ अन्य लोगों के विरुद्ध भ्रष्ट्राचार निवारण अधिनियम एवं धोखाधड़ी के आरोप में  एफआईआर दर्ज की गई.  इस एफआईआर के दर्ज होने के बाद आज़म खान ने इलाहाबाद  हाईकोर्ट में एफआईआर रद्द करने  और गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए गुहार लगाई थी. हाईकोर्ट ने मुकदमा रद्द करने की प्रार्थना को स्वीकार नहीं किया. विवेचना के दौरान आजम खान की गिरफ्तारी पर रोक लगा दिया था.  आजम खान ने विवेचना के दौरान यह बयान दिया था कि "इन सभी नियुक्तियों के मामले में नगर विकास मंत्री की कोई भी भूमिका सीधे तौर पर नहीं थी. मेरी गलती यही है कि कुछ लोगों को मेरे कार्यकाल में नौकरी मिल गई." 

Follow us on:

Comments
user profile image
Anonymous
on Sep 15 2021 21:23:08

इनका इतिहास ही धोका ढणी की रहीं हैं

user profile image
Anonymous
on Sep 15 2021 12:25:21

इसको जेल से कभी बाहर मत निकालना बहुत सारे अपराध किए हैं लाइन से फाइल लगाते जाओ इसको जेल के अंदर ही रहने दो यह इसी लायक है

Also read: ईसाई न बनने पर छोटे भाई ने बड़े भाई को घर से किया बाहर ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: झारखंड से योजनाओं का शुभारंभ करने वाले कर्मयोगी ..

बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं है  मायावती--- सुरेश खन्ना
टिकट चाहिए तो भरिये फार्म, दीजिये 11 हजार का शगुन, कांग्रेस हाई कमान का गजब आदेश

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं ...

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां