पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

शरिया की स्याही बनाम परिधान अफगानी, विदेशों में बसीं अफगान महिलाओं ने पारंपरिक परिधान में साझा कीं तस्वीरें

WebdeskSep 14, 2021, 01:49 PM IST

शरिया की स्याही बनाम परिधान अफगानी, विदेशों में बसीं अफगान महिलाओं ने पारंपरिक परिधान में साझा कीं तस्वीरें
पारंपरिक अफगानी परिधानों में कुछ महिलाओं द्वारा ये तस्वीरें साझा की गईं

वेब डेस्क
 


तालिबान के बुर्के, हिजाब के फरमान के विरुद्ध पारंपरिक अफगानी परिधानों में अपनी एक से एक तस्वीरें साझा कीं। तालिबानी मुल्लाओं और उनकी मध्ययुगीन सोच के विरुद्ध यह अनोखा विरोध प्रदर्शन दुनियाभर के लोगों को रास आ रहा है। उन्होंने इन महिलाओं के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।



स्वाभिमानी अफगान महिलाओं ने शरीयती तालिबान और उनके हिजाब व बुर्के के फरमान की धज्जियां उड़कर रख दी हैं। विदेशों में बसीं अनेक अफगान महिलाएं 13 सितम्बर को सोशल मीडिया पर छाई रहीं। उन्होंने तालिबान के बुर्के, हिजाब के फरमान के विरुद्ध पारंपरिक अफगानी परिधानों में अपनी एक से एक तस्वीरें साझा कीं। तालिबानी मुल्लाओं और उनकी मध्ययुगीन सोच के विरुद्ध यह अनोखा विरोध प्रदर्शन दुनियाभर के लोगों को रास आ रहा है और उन्होंने इन महिलाओं के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।

उल्लेखनीय है कि तालिबान लड़ाकों कहा था कि अफगानिस्तान में शरिया कानून के तहत महिलाएं हिजाब और बुर्के में ही दिखनी चाहिए।
बस इसी फरमान के विरुद्ध सोशल मीडिया पर अफगानी महिलाओं ने अभियान शुरू कर दिया। इसी अभियान के अंतर्गत अफगान मूल की ये महिलाएं पारंपरिक अफगानी परिधान पहने अपनी तस्वीरें साझा कर रही हैं। अफगानिस्तान और दूसरे देशों में रह रहीं महिलाओं ने अपनी तस्वीरों के साथ सैकड़ों ट्वीट किए हैं। अफगान महिलाओं के शुरू किए #AfghanistanCulture अभियान के अंतर्गत इन जागरूक महिलाओं ने तालिबान के जबरिया प्रतिबंधों के विरोध में तेजी लाने के लिए #AfghanistanCulture के साथ #AfghanWomen और #DoNotTouchMyClothes जैसे हैशटैग भी चलाए हुए हैं।


उल्लेखनीय है कि तालिबान लड़ाकों कहा था कि अफगानिस्तान में शरिया कानून के तहत महिलाएं हिजाब और बुर्के में ही दिखनी चाहिए। बस इसी फरमान के विरुद्ध सोशल मीडिया पर अफगानी महिलाओं ने अभियान शुरू कर दिया। इसी अभियान के अंतर्गत अफगान मूल की ये महिलाएं पारंपरिक अफगानी परिधान पहने अपनी तस्वीरें साझा कर रही हैं।

 
 

Comments

Also read: बुर्केमें कैद नारीवादी आजादी ..

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें
#Panchjanya #Kejriwal #DelhiHajhouse

Also read: पाकिस्तान के पोसे खालिस्तानी संगठन जड़ें जमा रहे अमेरिका में, हडसन इंस्टीट्यूट की रपट ..

हक्कानी से जान का खतरा जान, मुल्ला बरादर काबुल से गया कंधार
कंधार में तालिबान के विरुद्ध प्रचंड प्रदर्शन, सैन्य बस्तियां खाली करने के फरमान के विरोध में गर्वनर हाउस के बाहर जमा हुए हजारों लोग

बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाला गया जेल

  गुरुग्राम के सेक्टर 102 स्थित इंपीरियल गार्डन सोसायटी में अपने पांच साल के बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाले अनवर सैयद फैजुल्लाह को जेल भेज दिया गया है। उसकी पत्नी ने उसे बचाने के लिए कहा था कि वह मानसिक रूप से ठीक नहीं है, इसलिए उसने ऐसा किया था, लेकिन वह बात सही नहीं निकली।  गत दिनों गुरुग्राम (हरियाणा) में अपने बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाले सैयद फैजुल्लाह को जेल भेज दिया गया है। कुछ दिन पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न् ...

बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाला गया जेल