पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

पाकिस्तानियों ने सर्वे में कहा, तालिबान के राज में बढ़ेगा आतंकवाद, नशे और हथियारों की तस्करी होगी आसमान पर

WebdeskSep 09, 2021, 05:05 PM IST

पाकिस्तानियों ने सर्वे में कहा, तालिबान के राज में बढ़ेगा आतंकवाद, नशे और हथियारों की तस्करी होगी आसमान पर
पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में तालिबानी सरगना अब्दुल गनी बरादर व अन्य के साथ पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और आईएसआई प्रमुख ले.जन.फैज हमीद। (प्रकोष्ठ में) प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल चित्र)

इमरान खान के तालिबान को सुहाते बयानों से उलट, आम पाकिस्तानी नहीं मानते कि तालिबान उनके देश के लिए खुशियों की सौगात बरपा देगा


प्रधानमंत्री इमरान खान भले कितना ही अपने बढ़ाए तालिबान की शान में लफ्फाजी कर रहे हों, लेकिन एक ताजा सर्वे के नतीजे हैरान करने वाली कहानी बयां करते हैं। सर्वे में आधे पाकिस्तानी लोगों ने तालिबान को आफत के परकाले बताया है। उन्होंने कहा है कि बहुत से पाकिस्तानी अफगानिस्तान में तालिबान के चढ़ बैठने से नाराज हैं, जिससे उनके देश को खतरे के आसार बन गए हैं।

इमरान खान के तालिबान को सुहाते बयानों से उलट, आम पाकिस्तानी नहीं मानते कि तालिबान उनके देश के लिए खुशियों की सौगात बरपा देगा। उधर तालिबान के लड़ाके भी पाकिस्तान और चीन को गोद में बिठाए हुए हैं और बीआरसी सहित कई विषयों पर उनको समर्थन देने का फिलहाल लॉलीपॉप थमाए है। कारण? वह जानता है कि उसके काबुल पर चढ़ बैठने में पाकिस्तान की आईएसआई के दिमाग, उसके आतंकी और हथियारों की मदद मिली है। चीन ने कथित पैसा बहाया है।
  
लेकिन पाकिस्तानियों को यह प्रकरण इतनी आसानी से हजम नहीं हो रहा है। उनके मन में अनेक सवाल हैं कि पाकिस्तान के लाख अपना दामन साफ दिखाने के बावजूद आईएसआई के मुखिया का गत दिनों काबुल दौरा क्या संकेत करता है? क्योंकि आईएसआई प्रमुख के दौरे के सिर्फ तीन दिन के अंदर ही अफगानिस्तान में लड़ाकों ने 'कार्यवाहक सरकार' की घोषणा कर दी थी।


फ्रांस की एक कंपनी 'इप्सोस' ने 26 अगस्त से 2 सितम्बर के बीच पाकिस्तान में एक सर्वे किया तो असलियत सामने आई। उसके नतीजों से पता चला है कि सर्वे में शामिल लगभग 50 फीसदी पाकिस्तानियों ने अफगानिस्तान में तालिबान का राज आने को उचित नहीं माना है। वे कहते हैं कि लड़ाकों की हुकूमत आतंकवाद को हवा देगी। इतना ही नहीं, यह पाकिस्तान में कानून-व्यवस्था को पलीता लगाएगी, नशे और हथियारों की तस्करी की चांदी कराएगी। इस सर्वे में यह देखा गया है कि आम पाकिस्तानी तालिबान लड़ाकों के राज के लिए कैसा नजरिया रखते हैं। इस सर्वे में करीब एक हजार लोगों से सवाल किए गए थे। इन्होंने जो जवाब दिए उससे तैयार नतीजा परसों यानी 7 सितंबर को सार्वजनिक किया गया था। सर्वे में हिस्सा लेने वालों में 68 प्रतिशत पुरुष थे और 32 प्रतिशत महिलाएं। इनमें से 15 प्रतिशत की आयु 18-25 के बीच थी, तो 19 प्रतिशत की 26-30 साल, 40 प्रतिशत की 31-40, 18 प्रतिशत की 41-50 साल तथा 7 प्रतिशत की आयु 51-65 साल के बीच है। इनमें से ज्यादातर लगभग 77 प्रतिशत शहरी क्षेत्रों से थे और सिर्फ 23 प्रतिशत देहाती क्षेत्रों से।

हालांकि इस सर्वे में 21 फीसदी लोग ऐसे भी देखे गए हैं जिनका कहना है कि तालिबान के आने से दोनों मुल्कों में कारोबार बढ़ेगा। 19 प्रतिशत का मानना है कि अफगान से आने वाले शरणार्थियों की इतनी तादाद से पाकिस्तान के लिए मुसीबत खड़ी होगी। वहीं 16 प्रतिशत मानते हैं कि अब अफगानिस्तान से पाकिस्तान में नशे की तस्करी बढ़ेगी। 12 प्रतिशत लोगों का कहना है कि अफगानिस्तान की तालिबानी हुकूमत पाकिस्तान में भी इस्लामवाद को बढ़ावा देने का प्रयास करेगी।
 

Comments
user profile image
Anonymous
on Sep 15 2021 12:01:06

भारत देश और उसके नेतृत्व को अपने एडजस्टिंग कंट्रीज में क्या परिवर्तन हो रहा है इस पर नजर रखनी होगी और कंट्रोल भी रखना होगा और दखल भी रखना होगा ताकि घर का वातावरण सुरक्षित हो आसपास के देश हमारी छोड़ी गई भूमि ही है इस पर कोई परिवर्तन न हो

Also read: बुर्केमें कैद नारीवादी आजादी ..

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें

Kejriwal के हिंदू आबादी में Haj House बनाने के विरोध में 28 गांवों की खाप पंचायतें
#Panchjanya #Kejriwal #DelhiHajhouse

Also read: पाकिस्तान के पोसे खालिस्तानी संगठन जड़ें जमा रहे अमेरिका में, हडसन इंस्टीट्यूट की रपट ..

हक्कानी से जान का खतरा जान, मुल्ला बरादर काबुल से गया कंधार
कंधार में तालिबान के विरुद्ध प्रचंड प्रदर्शन, सैन्य बस्तियां खाली करने के फरमान के विरोध में गर्वनर हाउस के बाहर जमा हुए हजारों लोग

बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाला गया जेल

  गुरुग्राम के सेक्टर 102 स्थित इंपीरियल गार्डन सोसायटी में अपने पांच साल के बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाले अनवर सैयद फैजुल्लाह को जेल भेज दिया गया है। उसकी पत्नी ने उसे बचाने के लिए कहा था कि वह मानसिक रूप से ठीक नहीं है, इसलिए उसने ऐसा किया था, लेकिन वह बात सही नहीं निकली।  गत दिनों गुरुग्राम (हरियाणा) में अपने बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाले सैयद फैजुल्लाह को जेल भेज दिया गया है। कुछ दिन पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर न् ...

बेटे से 'पाकिस्तान जिंदाबाद' का नारा लगवाने वाला गया जेल