पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

हिमाचल प्रदेश शत प्रतिशत टीकाकरण की ओर

WebdeskAug 27, 2021, 12:00 AM IST

हिमाचल प्रदेश शत प्रतिशत टीकाकरण की ओर


हिमाचल प्रदेश 100 प्रतिशत टीकाकरण की ओर बढ़ रहा है। कोरोनारोधी टीकाकरण में हिमाचल देश भर में सबसे आगे है और यहां अब तक 95 प्रतिशत से अधिक आबादी को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का कहना है कि 30 अगस्त तक राज्य की समूची आबादी को वैक्सीन की पहली खुराक दे दी जाएगी। वहीं, देश में अभी तक 48 प्रतिशत से कुछ अधिक आबादी का ही टीकाकरण हो पाया है। 


प्रदेश के 6 जिलों किन्नौर, लाहौल-स्पीति, सिरमौर, सोलन, ऊना और शिमला में सभी लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है। चंबा, कांगडा और मंडी हालांकि सबसे पीछे हैं, लेकिन बिलासपुर, कुल्लू और हमीरपुर भी शत प्रतिशत टीकाकरण की कगार पर है। हिमाचल देश का पहला राज्य है जो शत-प्रतिशत टीकाकरण के करीब पहुंच गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में घर-घर जाकर लोगों के टीकाकरण का अभियान चलाया गया है। जो लोग टीकाकरण केंद्र पर नहीं पहुंच पा रहे हैं, उन्हें घर पर ही टीके लगाए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को टीकाकरण अभियान जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। 
 
हिमाचल में 18 वर्ष से ऊपर के 55.22 लाख लोगों को टीके लगने हैं। इनमें से 53,55,842 लोगों को वैक्सीन की पहली खुराक दी जा चुकी है, जबकि 16,73,808 लोगों को दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है। सुबह में प्रतिदिन 100 से अधिक केंद्रों पर टीके लगाए जा रहे हैं। 
 
ये राज्य सबसे पीछे
टीकाकरण मामले में देश के 8 राज्यों की स्थिति बहुत खराब है। आलम यह है कि इन राज्यों में अभी तक 50 लोगों को भी टीके नहीं लगे हैं। खासतौर से उत्तर प्रदेश व बंगाल में 36.2 प्रतिशत, बिहार 36.9 प्रतिशत, झारखण्ड 37.5 प्रतिशत, तमिलनाडु 40.1 प्रतिशत, पंजाब 40.9 प्रतिशत, महाराष्ट्र 42.7 प्रतिशत तथा तेलंगाना में 45.3 प्रतिशत लोगों को ही वैक्सीन की पहली खुराक मिल सकी हैं। 
 

Comments

Also read: ईसाई न बनने पर छोटे भाई ने बड़े भाई को घर से किया बाहर ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: झारखंड से योजनाओं का शुभारंभ करने वाले कर्मयोगी ..

बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं है  मायावती--- सुरेश खन्ना
टिकट चाहिए तो भरिये फार्म, दीजिये 11 हजार का शगुन, कांग्रेस हाई कमान का गजब आदेश

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं ...

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां