पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

झारखंड में ईसाई खा गए 10 प्रतिशत जनजातियों को

WebdeskAug 16, 2021, 05:56 PM IST

झारखंड में ईसाई खा गए 10 प्रतिशत जनजातियों को


झारखंड में ईसाइयों द्वारा किए जा रहे कन्वर्जन का असर यह हुआ है कि राज्य में 60 साल में जनजातियों की संख्या लगभग 10 प्रतिशत कम हो गई है। जानकार कह रहे हैं कि कन्वर्जन के अलावा सही खान—पान, बेरोजगारी और जागरूक न रहने के कारण जनजातियों की आबादी कम हो रही है।


 

झारखंड में ईसाई मिशनरी के लोग लोभ—लालच से जनजातियों को ईसाई बनाने का काम कर रहे हैं। इसका असर अब दिखने लगा है। एक रपट के अनुसार झारखंड में जनजातियों की जनसंख्या तेजी से गिर रही है। 60 वर्ष में जनजातियों की संख्या लगभग 10 प्रतिशत कम हो गई है। 1951 की जनगणना के अनुसार दक्षिण बिहार, जिसे अब झारखंड कहा जाता है, में रहने वाले जनजातियों की संख्या कुल आबादी का 35.8 प्रतिशत थी। 40 वर्ष में इसमें लगभग आठ प्रतिशत की गिरावट आई।

इस कारण 1991 में जनजातियों की जनसंख्या 27.66 प्रतिशत रह गई थी। इसके बाद 2001 में 26.30 प्रतिशत और 2011 में घटकर 26.11 प्रतिशत हो गया। इसका मतलब तो यही निकलता है कि 60 साल में जनजातियों की संख्या में लगभग 10 प्रतिशत की गिरावट आई। चिंता की बात यह है कि इसमें आदिम जनजातियों की संख्या में अधिक गिरावट देखी गई है। 2001 में आदिम जनजातियों की संख्या जहां 3,87,000 थी, वहीं 2011 में इनकी आबादी 2,92,000 हो गई।

अब लोग 2021 की जनगणना की इंतजार कर रहे हैं। कांग्रेस के पूर्व विधायक प्रकाश उरांव कहते हैं कि जनगणना सही तरीके से न होने के कारण जनजाति समाज के लोगों का पूरा विवरण देश के सामने नहीं आ पाता है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जनजातियों में अपने अधिकारों के प्रति जनगरूकता की भी कमी है, इसका असर भी उन पर हो रहा है। वहीं सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. निर्मल सिंह का मानना है कि जनजातियों की आबादी कम होने का सबसे बड़ा कारण है कन्वर्जन। उन्होंने यह भी कहा कि ईसाई के साथ—साथ मुसलमान भी जनजातियों का कन्वर्जन कर रहे हैं।

 

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 16 2021 22:48:55

इसके लिए जिम्मेदार धर्मनिरपेक्ष राजनिति धर्मनिरपेक्ष सरकारें

Also read: बिजनौर से जुड़े हैं कश्मीरी आतंकी के तार? शमीम और परवेज से पूछताछ कर रहीं सुरक्षा एजें ..

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा।

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा। सुनिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मा. जे. नंदकुमार को कल सुबह 10 बजे और सायं 5 बजे , फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब समेत अन्य सोशल मीडिया मंच पर।

Also read: प्रधानमंत्री मोदी के दौरे से पहले सलाहकार भास्कर खुल्बे पहुंचे बद्री-केदारधाम,लिया पु ..

शोपियां: सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को मार गिराया, पिस्टल सहित ग्रेनेड बरामद
साड़ी पर औपनिवेशिक शरारत

हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का योगी आदित्यनाथ ने किया अनावरण, कहा- एकजुट रहो, जाति-बिरादरी में न बंटो

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क योगी आदित्यनाथ ने ग्रेटर नोएडा में हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की विशाल प्रतिमा का अनावरण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मिहिर भोज ऐसे हिन्दू सम्राट थे, जिनसे दुश्मन कांपते थे।    मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सम्राट मिहिर भोज ऐसे हिन्दू सम्राट थे, जिनसे दुश्मन कांपते थे। ऐसे महापुरुष को नमन है। उन्होंने कहा जो कौम अपने भूगोल को विस्मृत कर देती है, वह अपने इतिहास की रक्षा भी नहीं कर पाती।      दरअसल, योगी आदित्यनाथ ग्रेटर ...

हिन्दू सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का योगी आदित्यनाथ ने किया अनावरण, कहा- एकजुट रहो, जाति-बिरादरी में न बंटो