पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

बुरहान वानी के पिता ने फहराया तिरंगा, कश्मीर में दिखे देशभक्ति के रंग

WebdeskAug 15, 2021, 01:20 PM IST

बुरहान वानी के पिता ने फहराया तिरंगा, कश्मीर में दिखे देशभक्ति के रंग

मीडिया के कुछ वर्गों ने मुड़भेड़ में बुरहान की मौत के बाद उसे 'एक प्यारा नौजवान, जिसके पिता शिक्षक हैं' -का तड़का लगाकर भावनात्मक खबरें चलाई थीं और आतंकी के वीभत्स रूप को 'शिक्षक' की आड़ में ढकने का काम किया था।

किंतु आज त्राल के स्कूल में लहराते तिरंगे ने बताया की बुरहान और उसके  पिता की लीक और सीख अलग-अलग थीं।

आज भारत स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ मना रहा है। देश में राष्ट्रध्वज फहरा रहे हैं। हर्ष-उल्लास के साथ राष्ट्रगान गाया जा रहा है। देश स्वतंत्रता के उत्सव में डूबा है। इसी बीच आज कश्मीर से भी अच्छी खबर आई है। 


रविवार सुबह कश्मीर के त्राल जिले के गवर्नमेंट गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में बुरहान वानी के पिता मुज़फ्फर वानी ने राष्ट्र ध्वज फहराया। ध्वजारोहण के बाद स्कूल के शिक्षक और सभी छात्राओं ने राष्ट्रगान भी गाया। 


बुरहान वानी के पिता  मुजफ्फर वानी एक शिक्षक हैं और उन्होंने त्राल में गवर्मेंट गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। पूरा देश 'आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है और केन्द्र शासित प्रदेश के प्रशासन ने शिक्षा सहित सभी विभागों को यह सुनिश्चित करने को कहा है कि स्वतंत्रता दिवस पर सभी कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाए।


बुरहान वानी हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकवादी था जिसे सुरक्षाबलों ने वर्ष 2016 में एक मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था। जिसके बाद घाटी में काफी तनाव देखने को मिला था। इस तनाव  के दौरान हुई हिंसा में भी घाटी में लगभग 100 लोग मारे गए थे।


मीडिया के कुछ वर्गों ने मुड़भेड़ में बुरहान की मौत के बाद उसे 'एक प्यारा नौजवान, जिसके पिता शिक्षक हैं' -का तड़का लगाकर भावनात्मक खबरें चलाई थीं और आतंकी के वीभत्स रूप को 'शिक्षक' की आड़ में ढकने का काम किया था।

किंतु आज त्राल के स्कूल में लहराते तिरंगे ने बताया की बुरहान और उसके  पिता की लीक और सीख अलग-अलग थीं।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि " अनुच्छेद 370 और 35A हट जाने पर घाटी में कोई तिरंगा उठाने वाला नहीं रहेगा।" 

इस बयान के बाद काफी विवाद हुआ था। लेकिन आज त्राल के सरकारी स्कूल से आई यह तस्वीर महबूबा मुफ्ती के उस बयान का खोखलापन और आतंकी और शिक्षक को जोड़ने वाली शरारत के पीछे का सच उजागर करती है।

 

- अम्बुज भारद्वाज

Comments
user profile image
Jaipat Jangu
on Aug 21 2021 10:00:38

आप तो इस लुचै को मत दिखाऔ।

user profile image
Anonymous
on Aug 15 2021 17:28:47

yahi he Kashmiriyat

user profile image
Anonymous
on Aug 15 2021 14:17:09

जय हिन्द

Also read: मोदी के नेतृत्व में दुनिया में गूंजा भारत का नाम ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: हिन्दी दिवस पर विशेष: सबसे मीठी अपनी भाषा ..

शब्द संकोचन का शिकार बनती हिंदी
चंपावत में बन रहा विवेकानद स्मारक ध्यान केंद्र, स्वामी विवेकानंद ने किया था यहां प्रवास

कोरोना में भी कारगर साबित हुआ 'आयुष' -- राष्ट्रपति

उत्तर प्रदेश के प्रथम आयुष विश्वविद्यालय की आधारशिला राष्ट्रपति ने रखी. आयुष विश्वविद्यालय के शिलान्यास समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में आयुष ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.  महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय के शिलान्यास स्थल पर पहुंचकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सबसे पहले वैदिक मंत्रोच्चार के बीच भूमि पूजन कर आधारशिला रखी. राष्ट्रपति श्री कोविंद ने कहा कि वैदिक काल से हमारे यहां आरोग्य को सर्वाधिक महत्व दिया जाता रहा है. कि ...

कोरोना में भी कारगर साबित हुआ 'आयुष' -- राष्ट्रपति