पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

हिंसा के चलते घर छोड़कर भागने को मजबूर हुए परिवारों को पूरी सुरक्षा के साथ लाएं घर वापस: कलकत्ता हाई कोर्ट

WebdeskAug 12, 2021, 01:03 PM IST

हिंसा के चलते घर छोड़कर भागने को मजबूर हुए परिवारों को पूरी सुरक्षा के साथ लाएं घर वापस: कलकत्ता हाई कोर्ट


 कलकत्ता हाईकोर्ट ने राज्य प्रशासन को विधान सभा चुनाव बाद हुई हिंसा के कारण घर छोड़कर जाने वाले डायमंड हार्बर के कई परिवारों को पूरी सुरक्षा के साथ घर लाने का निर्देश दिया है।



पश्चिम बंगाल में विधान सभा चुनाव बाद से जारी हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। आए दिन राज्य के विभिन्न इलाकों से हत्या,अगजनी, हमलों की खबरें आती रहती हैं। इन हमलों से घबराकर राज्य में एक बड़ी तादाद में लोग अपना घर छोड़कर भागने को विवश हुए थे। इस स्थिति को देखते हुए कलकत्ता हाईकोर्ट ने राज्य प्रशासन को विधान सभा चुनाव बाद हुई हिंसा के कारण घर छोड़कर जाने वाले डायमंड हार्बर के कई परिवारों को पूरी सुरक्षा के साथ घर लाने का निर्देश दिया है। साथ  ही न्यायालय ने 45 दिन के अंदर हिंसा की रिपोर्ट जमा करने का भी निर्देश दिया है।


बता दें कि टीएमसी के सांसद अभिषेक बनर्जी के लोकसभा क्षेत्र में बहुत से परिवार जो भाजपा का समर्थन करते थे, हिंसा के बाद घर छोड़कर भागने को विवश हुए थे। इसी कड़ी में 8 स्थानीय लोगों ने कलकत्ता हाई कोर्ट में मामला दायर किया था। इस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने डायमंड हार्बर पुलिस को पूरी सुरक्षा में इन परिवारों को वापस घर लाने का आदेश दिया है।  

Follow Us on Telegram

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 17 2021 08:49:07

बंगाल में भाजपा और टीएमसी वही सब वामपंथी कांग्रेसी लोग है जो लोग 34 सालों तक लड़ाई के नाम पर निरिह लोगों को बली का बकरा बनाता आरहा है जो अब भाजपा टीएमसी के नाम पर जारी है।बंगाल में विस्तार नही गृहयुद्ध चाहिये कलकत्ता एयरपोर्ट में इतना धंधा कोई लड़ाई नहीं सेटींग

user profile image
Anonymous
on Aug 13 2021 09:13:41

कोर्ट का आदेश तो मानना चाहिए

Also read: ईसाई न बनने पर छोटे भाई ने बड़े भाई को घर से किया बाहर ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: झारखंड से योजनाओं का शुभारंभ करने वाले कर्मयोगी ..

बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं है  मायावती--- सुरेश खन्ना
टिकट चाहिए तो भरिये फार्म, दीजिये 11 हजार का शगुन, कांग्रेस हाई कमान का गजब आदेश

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं ...

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां