पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

भारत

उपलब्धि ! 60 जनपदों में कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला

WebdeskAug 10, 2021, 06:35 PM IST

उपलब्धि ! 60 जनपदों में कोरोना का एक भी मरीज नहीं मिला

सुनील राय  


पिछले 24 घंटों में यूपी के 60 जिलों में कोरोना संक्रमण का एक भी केस सामने नहीं आया है. जबकि 15 जनपदों में केवल इकाई संख्‍या में मरीजों की पुष्टि की गई है. अलीगढ़, अमेठी, चित्रकूट, एटा, फिरोजाबाद, गोंडा हाथरस, पीलीभीत और प्रतापगढ़ में कोविड से सभी को निजात मिल चुकी है. ये सभी जनपद कोरोना संक्रमण से मुक्त हैं. प्रदेश में रोजाना घटते मामलों के बीच ट्रेसिंग, टेस्‍ट और टीकाकरण पर जोर दिया जा रहा है. जिसके चलते प्रदेश में सक्रिय केस की संख्या 570 है.


 

 पिछले 24 घंटों में दो लाख 15 हजार से अधिक कोरोना सैम्‍पल की जांच की गई जिसमें 23 मरीजों की पुष्टि हुई. इस बीच 43 लोगों ने कोरोना को मात दी. यूपी सर्वाधिक टीकाकरण व टेस्‍ट में दूसरे प्रदेशों से अव्‍वल है. अब तक प्रदेश में 6 करोड़ 76 लाख 91 हजार 677 कोरोना सैम्पल की जांच की जा चुकी है. अब तक 16 लाख 85 हजार 449 प्रदेशवासी कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर स्वस्थ हो चुके हैं. प्रदेश में कोरोना की रिकवरी दर 98.6 फीसदी है. वहीं पॉजिटिविटी दर 0.01 फीसदी है.

 

प्रदेश में 5 करोड़ 40 लाख से अधिक वैक्सीन की डोज अब तक दी जा चुकी है.  4 करोड़ 55 लाख से अधिक लोगों ने कम से कम कोविड की एक खुराक ले ली है. यह किसी एक राज्य द्वारा किया गया सर्वाधिक वैक्सीनेशन है.

 

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर योगी सरकार सजग है. प्रदेश में बच्चों के लिए आईसीयू की स्‍थापना तेजी से की जा रही है. वहीं ऑक्‍सीजन प्‍लांट तेजी से चालू किए जा रहे हैं. बता दें कि यूपी पहला ऐसा प्रदेश है जहां इतनी बड़ी संख्‍या में एक साथ इतने ऑक्‍सीजन प्‍लांट क्रियाशील किए जा रहे हैं. यूपी में अब तक 282 ऑक्सीजन प्लांट क्रियाशील हो चुके हैं.

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 11 2021 10:35:31

योगी जी जैसा कर्मशील मुख्यमंत्री मिलना उत्तर प्रदेश के लोगों का सौभाग्य है

Also read: मोदी के नेतृत्व में दुनिया में गूंजा भारत का नाम ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: हिन्दी दिवस पर विशेष: सबसे मीठी अपनी भाषा ..

शब्द संकोचन का शिकार बनती हिंदी
चंपावत में बन रहा विवेकानद स्मारक ध्यान केंद्र, स्वामी विवेकानंद ने किया था यहां प्रवास

कोरोना में भी कारगर साबित हुआ 'आयुष' -- राष्ट्रपति

उत्तर प्रदेश के प्रथम आयुष विश्वविद्यालय की आधारशिला राष्ट्रपति ने रखी. आयुष विश्वविद्यालय के शिलान्यास समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर को नियंत्रित करने में आयुष ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.  महायोगी गुरु गोरखनाथ आयुष विश्वविद्यालय के शिलान्यास स्थल पर पहुंचकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सबसे पहले वैदिक मंत्रोच्चार के बीच भूमि पूजन कर आधारशिला रखी. राष्ट्रपति श्री कोविंद ने कहा कि वैदिक काल से हमारे यहां आरोग्य को सर्वाधिक महत्व दिया जाता रहा है. कि ...

कोरोना में भी कारगर साबित हुआ 'आयुष' -- राष्ट्रपति