पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

उत्तराखंड का एक और लाल जम्मू-कश्मीर में बलिदान

WebdeskAug 20, 2021, 11:30 AM IST

उत्तराखंड का एक और लाल जम्मू-कश्मीर में बलिदान


जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के थन्ना मंडी तहसील क्षेत्र में करेयोट गांव में सुरक्षाबलों और आतंवादियों की मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया। इस घटना में सूबेदार राम सिंह भंडारी बलिदान हो गए। 


 

जम्मू-कश्मीर स्थित राजौरी सेक्टर में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में उत्तराखंड का एक और लाल बलिदान हो गया। सूबेदार राम सिंह भंडारी मूलतः पौड़ी जिले के सलाना गांव के निवासी हैं। कुछ समय से उनका पूरा परिवार मेरठ कैंट एरिया में रह रहा था और वे अगले साल फरवरी में रिटायर होने वाले थे।

 
जानकारी के मुताबिक्र जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के थन्ना मंडी तहसील क्षेत्र में करेयोट गांव में सुरक्षाबलों और आतंवादियों की मुठभेड़ में एक आतंकी मारा गया। इस घटना में सूबेदार राम सिंह भंडारी बलिदान हो गए। 16 यूनिट गढ़वाल राइफल्स के मूल रूप से सैनिक सूबेदार राम सिंह भंडारी पिछले दो सालों से 48 आर आर जम्मू -कश्मीर में तैनात थे।
 
मुठभेड़ के दौरान मारे गए आतंकी से राइफल, पिस्तौल, गोला बारूद बरामद हुआ है। जबकि एक अन्य छिपे हुए आतंकवादी की तलाश की जा रही है। खबरों के मुताबिक सूबेदार राम सिंह को गोली लगी थी, जिन्हें गंभीर अवस्था में तत्काल हेलीकॉप्टर से उधमपुर सेना के अस्पताल में रेफर किया गया। लेकिन इलाज के दौरान उन्हें बचाया नहीं जा सका। उनका पार्थिव शरीर मेरठ लाया जा रहा है, जहां पूरे सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।  
 
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सूबेदार राम सिंह भंडारी के बलिदान होने पर कहा कि देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले सूबेदार राम सिंह भंडारी पर हम सभी को गर्व है।
 
रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि सूबेदार राम सिंह भंडारी जैसे वीर सैनिकों के कारण ही हमारा देश सुरक्षित है। उनकी शहादत पर गर्व है।
 
 
बता दें कि उत्तराखंड वह राज्य है, जहां देश में सबसे ज्यादा संख्या में वीर सैनिकों ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अपनी शहादत दी है।
 
 

Comments

Also read: मौलाना कलीम के खिलाफ नितिन पंत ने दी तहरीर, कन्वर्ट करके बनाया था अली हसन ..

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा।

टेलीकास्ट दोहराएं: एक नरसंहार को स्वतंत्रता का संघर्ष बताने के ऐतिहासिक झूठ से हटेगा पर्दा। सुनिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और मा. जे. नंदकुमार को कल सुबह 10 बजे और सायं 5 बजे , फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब समेत अन्य सोशल मीडिया मंच पर।

Also read: चन्नी की सरकार में सिद्धू हैं ‘सरदार’ ..

पंजाब में ही नहीं देश को है 'क्रिप्टो कांग्रेस' से खतरा
दिल्ली दंगा: तीन मामलों में छह आरोपितों-मुहम्मद,परवेज,अशरफ,सोनू,जावेद और आरिफ के खिलाफ कोर्ट ने तय किए आरोप

रुड़की में पकड़ा गया था पाकिस्तानी जासूस,नैनीताल हाई कोर्ट ने सुनाई 7 साल की सजा

उत्तराखंड ब्यूरो   नैनीताल हाई कोर्ट ने 2012 में पकड़े गए आबिद अली को 7 साल की सजा सुनाई है। आबिद अली पाकिस्तानी नागरिक है, जिसे खुफिया एजेंसियों ने गिरफ्तार किया था। नैनीताल हाई कोर्ट ने 2012 में पकड़े गए आबिद अली को 7 साल की सजा सुनाई है। आबिद अली पाकिस्तानी नागरिक है, जिसे खुफिया एजेंसियों ने गिरफ्तार किया था। जानकारी के मुताबिक आबिद पाकिस्तानी नागरिक था। फ़र्ज़ी दस्तावेजों के आधार पर रुड़की में रह रहा था। उसने यहीं की एक महिला को प्रेम जाल में फंसाकर शादी कर ली। इसी सबके बीच ...

रुड़की में पकड़ा गया था पाकिस्तानी जासूस,नैनीताल हाई कोर्ट ने सुनाई 7 साल की सजा