पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

मनोज और देवेंद्र का कन्वर्जन कराने वाला अबु बकर खुद भी कन्वर्टेड निकला

WebdeskAug 25, 2021, 12:00 AM IST

मनोज और देवेंद्र का कन्वर्जन कराने वाला अबु बकर खुद भी कन्वर्टेड निकला


मेवात में मनोज और देवेंद्र का कन्वर्जन कराने वाला अबू बकर खुद कन्वर्टेड है। तीन दिन की पुलिस हिरासत में अब बकर अब अपने राज़ उगल रहा है। जमीन के लालच में उसके पिता ने अपने साथ पत्नी बबली, दो बच्चों संदीप और सपना का भी कन्वर्जन करा दिया था।


 

14 साल पहले अबू बकर हिंदू था। उसका नाम संदीप यादव था। वह गुड़गांव के पटौदी थाना अंतर्गत नूरगढ़ गांव में रहता था। यहां उसके पिता की जमीन और घर भी था। लेकिन 2007 में जब उसके पिता तेजपाल ने इस्लाम कबूल लिया तो सबकुछ बेच कर पूरा परिवार मेवात में नूंह के सलंबा गांव में जाकर बस गया। उसका पिता नूंह के टाई गांव के एक निजी स्कूल में पढ़ाते थे।
 
दरअसल तेजपाल को यह लालच दिया गया था कि कन्वर्ट होने के बाद मेवात में उसे 500 गज का प्लॉट मिलेगा। इस्लाम कबूल ने के बाद तेजपाल ने अपना नाम बदलकर अबुल रहमान और बेटे का नाम अबु बकर रख दिया। वहीं पत्नी का नाम मरियम और बेटी सपना का नाम जैनब रख दिया। बाद में संदीप उर्फ अबु बकर का निकाह फरीदाबाद के धौज थानांतर्गत नदियापुर गांव में करा दिया। उसके दो बच्चे हैं। सलम्बा में उसकी 200 गज जमीन भी है। अबु बकर वामसेफ संस्था से जुड़ा हुआ था और धौज में मदरसा भी चलाता है, जिसमे 200 बच्चे पढ़ते हैं।
 
बता दें कि अबु बकर ने मेवात के दो हिन्दू युवकों मनोज और देवेंद्र को लालच देकर कन्वर्जन कराया था। मनोज को अप्रैल 2020 में पैसे का लालच देकर मुसलमान बनाने के बाद उसका नाम अनस रख दिया। फिर उसे उसे दूसरे हिंदू युवाओं को मुसलमान बनाने के काम में लगा दिया गया। इसी दौरान उसे गोमांस खाने के लिए बाध्य किया जाता और ऐसा न करने पर उसके साथ मारपीट की जाती। वहीं, देवेंद्र को नौकरी का झांसा देकर मोहम्मद जैद बना दिया गया। दोनों ने अबु बकर के खिलाफ एसपी से शिकायत की थी। इसके बाद अबु बकर और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर धौज से उसे गिरफ्तार किया। गिरफ्तारी के बाद अबु बकर को सोमवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज गया था। 
 

Comments
user profile image
Anonymous
on Aug 25 2021 20:58:10

जी।नैतिकता तो यह कहती है कि;-चाहे कितनी भी मुसीबत आन पड़े,धर्म का गंवाना ठीक नहीं फिर भी लालच वश या भूलवश यह सब हुआ तो सुधार कर लेना चाहिए सुबह का भूला साम। को घर लौट आए तो उसे भूला नहीं कहते!आभार

Also read: ईसाई न बनने पर छोटे भाई ने बड़े भाई को घर से किया बाहर ..

kannur-university - सावरकर और गोलवलकर के विचारों से क्यों डर रहे हैं वामपंथी?

सावरकर के “हिंदुत्व: कौन एक हिंदू है”, और गोलवलकर के “बंच ऑफ थॉट्स” और “वी ऑर अवर नेशनहुड डिफाइंड”, दीनदयाल उपाध्याय के “एकात्म मानववाद” और बलराज मधोक के “भारतीयकरण: क्या, क्यों और कैसे” जैसे विचारों से वामपंथी शिक्षाविद घबराने लगे हैं...

#kannuruniversity #savarkar #Golwarkar

Also read: झारखंड से योजनाओं का शुभारंभ करने वाले कर्मयोगी ..

बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं है  मायावती--- सुरेश खन्ना
टिकट चाहिए तो भरिये फार्म, दीजिये 11 हजार का शगुन, कांग्रेस हाई कमान का गजब आदेश

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं। दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश से आतंकियों के पकड़े जाने के बाद जांच एजेंसियां आतंकियों के घरों तक पहुंच रही हैं। इसी कड़ी में अमरोहा स्थित गजरौला इलाके के खालीपुर और खुगावली गांवों में सुरक्षा एजेंसियों द्वारा जानकारी जुटाने की खबरे हैं ...

यूपी—दिल्ली में पकड़े गए आतंकियों के घरों तक पहुंची जांच एजेंसियां